Full Definition of Nervous Means in Hindi

दोस्तो आज की जानकारी के अंतर्गत हम जानने बाले है डिक्शनरी के एक ज्यादा अनुभव होने बाले अर्थ के बारे मे जो यहाँ सम्पूर्ण उदाहरण के साथ उपयोग ऑर प्रभावों को छोटे तथा विस्तार वर्णन के साथ आपको बताने की कोशिश करेंगे। 

एक बार अंत तक यह आर्टिक्ल पढ़ते ही आपको बाहर से किसी भी तरह की जानकारी पढ़ने की आवश्यकता भी नही होगी क्योकि यहाँ हमने आपके दिमाग की ताकत को समझते हुये आस - पास की अनेकों चीजों, कार्यो ऑर लोगो से संबंध स्थापित करके यह जानकारी बताई है। अब थोड़ा भी समय ना गवाकर आगे बड़ते हुये सब कुछ बताते है। 

Full Definition of Nervous Means in Hindi :


Nervous Means in Hindi :

कमजोर, 
चिड़चिड़ा, 
उत्साह, 

अभी तक तो आपने ऊपर से सभी छोटे अर्थो को जल्दी ऑर बड़ी ही आसानी से अपनी जरूरत के चलते सरलता से इस्तेमाल कर ही लिया होगा। जब आप इन शॉर्ट अर्थ को पुरा याद कर लेंगे तब इन्हे बहुत ही आसनी से कई भी यूज तो कर ही लिया होगा लेकिन इनमे आप सभी को एक समस्या जरूर आई होगी कि कुछ समय गुजरने के बाद ये शॉर्ट मतलव आपके दिमाग से भूल गए होंगे। इस तरह की परेशानी के समाधान के लिए यह इतना बड़ा जानकारी से भरा पोस्ट आपके लिए लिखा है इसे पढ़ते ही सारे कन्फ़्युजन खत्म हो जाएँगे। चलिये अब आगे बड़ते हुये सब कुछ पढ़ते है। 
 

Meaning of Nervous in Hindi with All Examples : 


सभी मतलव अच्छे से जानिए -      

- कमजोर, दोस्तो इसे आप सभी इस अर्थ को बहुत ही निजी अनुभव के साथ समझते ही होंगे। यहाँ हम इस शब्द को दो तरह से लेकर बता सकते है पहला जिसमे किसी इंसान के ठीक से काम ना करने की स्थिति के चलते इन्हे कमजोर रूप मे देखा जा सकता है। 

जब कोई व्यक्ति शारीरिक या मानसिक रूप से जिंदगी की घटनाओ को नही कर पाता है या अच्छे से परिणाम नही निकाल पाता है तब उसकी हालत कमजोर के अंतर्गत ले सकते है। दूसरी ओर आस - पास की चीजे जो रोज़मर्रा की जरूरत को पूरा करती है कुछ मामलो मे इसे लेते है। 

- चिड़चिड़ा, आप सभी ने इसे खुद की लाइफ मे अनुभव जरूर से किया होगा क्योकि दिमाग मे अनेकों तरह के विचार बनते है ऑर कई स्थितियाँ लगातार देखने को मिलती रहती है जिंकान सामना करते हुये किसी को भी चिड़चिड़ा बना सकता है। 

जीवन मे इस चिड़चिड़ा आदत मे होती है तो कुछ व्यक्ति द्वारा समस्या मे फसकर समाधान ना निकाल पाने की स्थिति के चलते भी ऐसी बाते हो जाती है। यह अधिकतर इन्सानो के अलावा जानवरो मे भी आदत देखि जाती है क्योकि आदमी के अंदर अनेकों तरह की भावनाए मौजूद होती है। आगे प्रभाव ऑर उपयोग पर थोड़ी चर्चा करेंगे। 

- उत्साह, हालाकि आप सभी इस तरह की भावना से जुड़ ही चुके होंगे क्योकि यह समय के साथ भिन्न चीजों या कार्यो के लिए हर एक मे देखने को मिलती है। आपने यह अनुभव किया होगा जब आप कुछ बातों को लेकर बहुत प्रसन्न हो रहे होंगे। 

इसे अधिकतर अंदर से खुशी चलते एक - दूसरे मे देखे होंगे। उदाहरण के लिए जब आप पढ़ाई कर रहे होंगे ऑर स्कूल की परीक्षा मे सफलता पाने के बाद आपको अंदर से बहुत खुशी अवश्य मिली होगी बस इसे ही उत्साह के एक रूप मे लेकर देख सकते है। चारो ओर अनेकों उदाहरण देखे ही होंगे। 

प्रत्येक वर्ड के प्रभाव को उदाहरण के साथ जानिए - 

- कमजोर, हमने ऊपर कुछ बाते इससे संबन्धित बताई है जहां से पूरा पढ़ते ही बहुत कुछ बाते जान ली होगी। दोस्तो इसके प्रभाव को हमेशा शारीरिक या मानसिक रूप से खुद पर बुरे प्रभाव के अलावा परिवार की समस्या को बड़ाते देखा या अनुभव किया ही होगा। 

जब यह कमजोरी शरीर पर होती है तो खुद को तकलीफ के साथ इसके इलाज मे बहुत पैसा खर्च होता है जो कि आर्थिक रूप से बहुत परेशानी खड़ा करता नजर आता है। साथ ही समाज या परिवार के लोगो के द्वारा बुरे व्यवहार का सामना भी करना पड़ता है। कुछ लोगो मे यह बाहरी तौर पर देख पाते है तो कुछ मे अंदर होने के बाद भी नही दिखाई देती है इसके भिन्न पहलू मिलते है। 

- चिड़चिड़ा, दोस्तो इसे किसी इंसान के अंदर दो स्थिति के अंतर्गत देख सकते है पहला जिसमे उसके द्वारा किए कार्य का परिणाम पूरी तरह ना मिलने से भी यह गुण अक्सर देखने मे आ सकता है। दूसरी ओर बहुत से लोग अपने स्वभाव के कारण ही हमेशा से चिड़चिड़ा दिखाते नजर आ सकते है। जैसे सभी बातों अच्छे तथा बुरे परिणाम होते है वैसे ही इनमे भी दोनों तरह के प्रभाव के परिणाम भी देखने को मिल जाते है। कई बार यह बात को बना देते है तो कुछ समय मे यह विपरीत परिणाम भी दिखा देते है। आगे उपयोग भी जाने। 

- उत्साह, जब आपके जीवन मे कुछ अच्छा देखने मे आता है अब अंदर से खुशी मिलती है जिसे उत्साह के रूपो मे अनुभव करते है। सभी के उत्साह मे आने के भिन्न कारण हो सकते है। जहां एक ओर उत्साहिट होना अच्छी बात है वही दूसरी ओर इसके कुछ घातक परिणाम भी देखने मे आ सकते है क्योकि इंसान भावनाओ के अधीन रहकर कई बार बुरे परिणाम देने बाली चीजों को अपना लेते है जिनका बाद मे बड़ा भुगतान करना पड़ जाता है। जरूरत से ज्यादा अति किसी भी चीज की अच्छी नही होती वही यहाँ भी लागू हो जाता है। 

सभी अर्थो के उपयोग को जाने -   

- कमजोर, इसे मानसिक या फिर शारीरिक चीजों के अंतर्गत लेकर समझ पाते है। इससे समझ सकते है। 

- चिड़चिड़ा, सहन की कम शक्ति या बाहरी कामो के चलते भी इनहे लेकर हजाते है 

- उत्साह, यह मिलने बाती चीज की खूबी पर ज्यादा निर्भर करता है। 

मेरे खयाल से आप सभी ने ऊपर अभी तक पूरे आर्टिक्ल को रीड करे ताकि ऑर भी लोग आपसे जूड़े रहे। यदि कुछ फायदा मिला है तो कमेंट के द्वारा हमे बताए ताकि अच्छे पोस्ट दे सके। हमे सोशल मीडिया फॉलो करके ऑर भी नए दोस्तो को शेयर करके उनका फायदा करे। चलिये जब तक के लिए अलविदा। कोई सुझाव है तो हमे जरूर बताए। 

Post a comment

0 Comments